Sunday, 19 February 2017

Printing Business, किस तरह की प्रिंटिंग मशीन लगायें


Low cost budget, Printing Business, at village, town and City. Full Colour Printing for Visiting Cards, Wedding Card, Brochures, Newsletters, Book Cover, Project Cover Design and printing,

अगर आप डिजाईन एंड प्रिंटिंग का काम कर रहें है या नया काम करना चाहते हैं.
यानि डिजाइनिंग और प्रिंटिंग के काम से INCOME  मतलब  कमाई करना चाहते हैं

  तो ये लेख आपके बहुत से पैसे बचाने वाला और ज्यादा पैसे कमाने के बारें  में है 

- शुरुआत में आप - कंप्यूटर लगा कर - डिजाइनिंग का काम शुरू करें 

- साथ ही शादी कार्ड रखें - इसकी डिजाइनिंग - और स्क्रीन प्रिंटिंग  -आपकी एक्स्ट्रा आमदनी होगी 

 मशीन लगाने से पहले  - सबसे जरूरी बात  - प्लानिंग 

 प्रिंटिंग की मशीन या लेबर तभी लगानी  चाहिए -  जब  हमें उस काम के आर्डर मिल रहें हों 

 ऐसे कभी ना करें - की - मशीन और लेबर तो पहले ही लगा लें - काम बाद में ढूढने जाएँ। 

मतलब   - 

- सबसे पहले आप डिजाइनिंग का काम शुरू करें और इसके साथ ही प्रिंटिंग के आर्डर पकड़े और उन्हें किसी दूसरे से प्रिंटिंग करवा कर कस्टमर को दें और मार्जिन यानि लाभ कमाएं।

- इससे दूसरे प्रिंटर क्या रेट ले रहें है - क्या क़्वालिटी की प्रिंटिंग कर रहें हैं - कौन सी मशीन इस्तेमाल करते हैं
ये सब बातें आप  जान जायेंगे और कस्टमर को कैसे संतुष्ट करना है ये भी सीख जायोगे।

- हमारी डिजाइनिंग की ट्रेनिंग आपको बताती है की आप- इन सबसे अलग बढ़िया डिजाईन कैसे बनाएंगे और ज्यादा अच्छी प्रिंटिंग कर सकेंगें। बल्कि डिजाइनिंग की वजह से ये प्रिंटर्स भी आपको  काम देंगे। 

 जब आपको महीने में ज्यादा प्रिंटिंग के आर्डर मिलने लगे 
तब आप प्रिंटिंग मशीन लगाने की सोचें 

- इस तरह आपका नुक्सान बिलकुल नहीं होगा और अपने काम को बढ़ाने के लिए पैसे भी बना सकोगे

-अब आप -  ये भी जानोगे  की कौन से  काम में ज्यादा कमाई हो रही है और प्रिंटिंग मशीन भी उसी काम  की लगा सकोगे।



अब जानेंगे - किस तरह की प्रिंटिंग मशीन लगायें। 

1  - 12 x 18 inch Multiple Colour Printer 
      विजिटिंग कार्ड, I -CARD , ब्रोशर्स, न्यूज़ लेटर्स, रंगीन लेटर पैड, प्रोजेक्ट रिपोर्ट, बुक कवर, होटल  मेन्यू कार्ड, सर्टिफिकेट, इनविटेशन कार्ड, पासपोर्ट फोटो, फोटो एल्बम, छोटे कैलेंडर यानि सभी तरह के कलर WORK
हैंडबिल जैसे पतले पेपर से लेकर विजिटिंग कार्ड जैसे मोटे पेपर तक छाप सकता है.

लागत - Rs 1,50,000 से 3,00,000 तक ( डेढ़ लाख से तीन लाख तक )
लेबर - खुद कर सकते हैं या 1 व्यक्ति

2  - मिनी ऑफसेट  (MINI OFFSET ) 15 X 20 inch - बिल बुक- बिल्टी - लेटर पैड - हैंडबिल के लिए - सिंगल या डबल कलर -
लागत - Rs 1,50,000 से 3,50,000 तक ( डेढ़ लाख से साढ़े तीन लाख तक )
लेबर - खुद कर सकते हैं या 2  व्यक्ति

3 - Flex -Vinyl Printers - 10 feet size (होर्डिंग - बैनर-प्रिंटिंग लिए)
लागत - Rs 6,00,000 से  35,00,000 तक ( छः लाख से पैंतीस  लाख तक )
लेबर -  2 से 3  व्यक्ति

आपने देखा - नम्बर 1 वाला प्रिंटर - कम लागत में - हर तरह का काम कर रहा है 

यानि औरों के मुकाबले -  इसमें पैसा लगाना - अच्छा सौदा होगा 

  अब समझेंगे की -  इसके द्वारा प्रिंटिंग लागत क्या होगी   

- यानि पेपर और प्रिंटिंग की लागत 
   पेपर की कीमत के साथ  Rs 6 (12 x18 inch ka 1 print यानि A 4 साइज के 2  प्रिंट एक साथ छः रुपए में  )

- कितने प्रिंट करने के बाद - इंक ख़तम होगी-  30,000 se 50,000 प्रिंट के बाद
  अगर 12x18 size पर पूरा पेज फुल कलर छपे तो प्रिंट कम होंगे 
- जैसे पूरे  पेज पर फोटो प्रिंटिंग - तो कम पेज छपेंगे 
- अगर लेटर पैड छापे तो उसके प्रिंट ज्यादा निकलेंगे 

- प्रिंटिंग इंक कितने की होगी - Rs 15,000  से 30,000 

- इसके मैंटेनेंस यानि रख रखाव खर्च कितना होगा - 4  ड्रम - Rs. 18,000 से 52,000 तक 
   इसमें ड्रम होते है जो की 30000  से 50000 प्रिंट निकलने के बाद लाइन या डॉट देने लगते हैं 
   
      अब समझेंगे की - प्रिंटिंग लागत कैसे निकालते हैं   

- जो भी ज्यादा से ज्यादा खर्च हो सकता है हम उसे ही मानेंगे 
- जैसे इंक और ड्रम दोनों ख़तम होंगे  - 30  से 50 हज़ार प्रिंट पर - तो यहाँ  (40,000) चालीस हज़ार प्रिंट लेते हैं 

- नए ड्रम और इंक पर हम सबसे ज्यादा वाला खर्च लेंगे - यानि Rs. 52,000 ड्रम  और Rs 30,000 इंक  तो टोटल हुआ Rs. 82,000 kharcha यहाँ इसे Rs. 80000 मानेंगे इससे हिसाब आसान हो जायेगा 

इसतरह हमारे 40000 (चालीस हज़ार ) प्रिंट Rs 80000 खर्च पर निकलेंगे तो एक प्रिंट Rs 2 में हमें पड़ेगा 
इसमें पेपर अलग से होगा तो वह है  Rs. 3 (12 x 18 size visiting card जितना मोटा)

टोटल  5 रुपए लागत बनी पर हम इसे Rs 6 मानेंगे - जिससे हम सेफ रहेंगे 

     कमाई  होगी- हर महिने - Rs.  30,000 से Rs. 50,000 

 Rs 10 से 12 का प्रिंट रेट  - ये उन्हें देना है जो 
- प्रिंटर हैं यानि प्रिंटिंग का काम करते हैं उनसे हमें लगातार काम यानि प्रिंट मिलता रहेगा 
उन्हें भी इस तरह देंगे 1  से 5 प्रिंट Rs. 12 
 5 से ज्यादा Rs. 10
बाकि कस्टमर को Rs 15 से 100  का प्रिंट देंगे - काम के अनुसार 

अब यदि प्रतिदिन प्रिंटरों के लिए 300 प्रिंट निकाले 
तो आप Rs 10 पर 4 Rs. कमाते हैं यानि Rs. 1200 प्रतिदिन और Rs. 30000 महीने (25 दिन काम करने पर )

ये तो सिर्फ इस प्रिंटिंग मशीन से कमाई हुई  - 

अभी इसमें डिजाईन के काम की कीमत जोड़े तो - तो Rs. 40 से 50,000 तक कमा सकते हो 

डायरेक्ट कस्टमर का काम -  जैसे, 

- फोटो एल्बम- कस्टमर के मोबाइल से फोटो लेकर 

-  बच्चों के बर्थडे इनविटेशन - उनकी फोटो लगा कर

- सर्टिफ़िकेट - स्कूल और  इंस्टिट्यूट्स के 

- I -CARD  - स्कूल और  इंस्टिट्यूट्स के 

- पासपोर्ट फोटो 

- विजिटिंग कार्ड  -   लैटर पैड - र बिल बुक 

इस बात को समझे की आपको ज्यादा कमाई वही व्यक्ति दे सकता है जो अमीर  हो 
इसलिए कुछ खास काम  आप करेंगे  - छापेंगे - तभी कोई आपको ज्यादा पैसे देगा 


अगर आप -  इस तरह प्रिंटिंग का काम करना चाहते हैं  - मशीन के बारे में जानना चाहते हैं 

अपने व्यापार को बढ़ाना चाहते हैं - 

मेरी गाइडेन्स यानि मदद चाहते है तो मुझे बेझिझक संपर्क कर सकते हैं - 09311226033 


संजय माकड़
फ़ोन : 09311226033