Saturday, 8 February 2014

Learn CorelDRAW in Hindi - ये कोर्स क्यों करें ?

ये कोर्स क्यों करें ?


आप चाहे अपने घर पढ़ें - या बाहर इंस्टिट्यूट में

अब जो आप सीख रहें है - वो आपकी तरक्की के लिए है -  

1 - इंस्टिट्यूट जाने पर  हमारा नुक्सान कैसे होता है 

- पहले कंप्यूटर बहुत महँगे  होते थे 

- इसलिए  इंस्टिट्यूट में जाकर वहां के कंप्यूटर पर सीखते और मार्किट में नौकरी कर पैसा कमाते थे 

- पर अब कंप्यूटर सस्ते हो चुके हैं 

- पर इंस्टिट्यूट की फीस   बहुत ज्यादा होती है क्योंकि उसके कंप्यूटर -ऑफिस का खर्च भी इस फीस में होता है. 

- सबसे जरूरी - वहां प्रोफेशनल टीचर भी मुश्किल से मिलते हैं क्योंकि प्रोफेशनल तो  ज्यादा सैलरी मांगेगे 

- ज्यादातर लोग ये पता नहीं करते की -  
उनका टीचर डिजाइनिंग जानता भी है या नहीं

-जो लोग अभी काम कर रहें होते हैं वो  - अपनी तरक्की के लिए  ट्रेनिंग लेने को सोचते  हैं 

-   इंस्टिट्यूट ये सोच कर भी जाते हैं की  - वहां जाकर तो सीख लेंगे पर- खुद से नहीं कर पायंगे 

- यानि ये सोचते हैं की कोई हमसे काम करा लें - हम खुद तो करेंगे नहीं  

- पर हकीकत में - अब आप इतने बड़े हो चुके हो की - किसी का दबाव या जोर नहीं मानोगे

-  अब शुरू होती है असली परेशानी - आपके काम का समय और क्लास का  समय दिन का ही होता हैं 

- आप अपने काम के समय के बीच में - क्लास करने जायँगे - या शाम के समय - या सुबह सुबह

- डिजाइनिंग के काम में - प्रैक्टिकली शाम को कस्टमर ज्यादा होते - क्योंकि वो भी अपना काम से फ्री हो कर 
- आपके साथ बैठ सकते हैं तो शाम की  क्लास आपके लिए  मुश्किल हो जाती है या यानि  क्लास बार बार छूटेगी -  मतलब  नुक्सान 

- यही समस्या सुबह की क्लास में होती है - क्योंकि दिन भर काम कर और रात को देर तक काम करने के बाद  सुबह सुबह क्लास करना - ये भी मुश्किल ही हो जाता हैं 

- अब बचा बीच का समय - तो दिन में  बीच में जाना - यानि अपना काम लेबर पर छोड़ना - ये तो और भी मुश्किल और नुक्सान वाला काम होता है 


- अब  जो प्रैक्टिस हमें करनी है उसे  करने में लापरवाही करते हैं 

- जहाँ टीचर ने  दो तीन बार कहा की आपने  प्रैक्टिस नहीं की -

- आप जाना छोड़ देते हो - और फिर वो कोर्स अधूरा  छोड़ देते हो - 

- इसतरह नौकरी या अपना काम करने वाले को - अपनी बहुत सी क्लास छोड़नी पड़ती है और जो  फीस दी उसका  नुक्सान उठाना पड़ता हैं 


2 - तो हमारी ट्रेनिंग  से  कैसे और आसानी से सीखेंगे 

ये बिलकुल ऐसे है जैसे मैं खुद आपके पास आकर आपको सीखा रहा हूँ 
   
इसे ऐसे समझें - अगर मैं आपके घर  आपको सीखा रहा होता तो - 

- आपको  Computer पर कुछ करके दिखाता - 

- तब आप  computer screen को देखते हैं और मेरी सिर्फ आवाज ही सुनते 

- उसके बाद, जैसे देखा था वैसे ही, आप खुद से करके सीखते

   - पर मेरे चले जाने के बाद अगर आप  कुछ भूल जाते तब 


-  अगले दिन की क्लास में आप मुझसे पूछते -

- पर अगर मैं हर क्लास के बाद - आपको उस क्लास की रिकॉर्डिंग करके आपको दे जाता तो 

- तो आप रात को आराम से कभी भी उस विडियो को चला कर वह बात सीख लेते 

- और सबसे अच्छी  बात - जब कोर्स पूरा हो जाता तब भी वो विडियो आपके काम आते। 

- बस इसी तरह हमारी ट्रेनिंग विडियो में हैं - हिंदी में  है 

- अब मुझे भी आपके पास रोज आने की जरूरत नहीं 

- इससे फीस कम  यानि खर्च कम  - पर ट्रेनिंग की क्वालिटी वही की वही 

- और टीचर भी एक -  यानि मैं 

अब कुछ भी समझना आसान और कोई क्लास का बंधन भी नहीं - जब चाहो तब सीखो 


3 - अब बात आती है की जब मैं - आपके पास होता और  कुछ समझ नहीं आता तो - पूछ लेते - उसका क्या 
इस ट्रेनिंग में भी - आपको कुछ समझ नहीं आये तो 

- आप मुझे ईमेल ( info.proway@gmail.com ) कर सकते हैं  ( ईमेल करना ट्रेनिंग में सिखाया है )

- आप मुझे फ़ोन ( 09311226033 ) करके पूछ सकते हैं 

   अगर फिर भी समझने में परेशानी हो तो 

-  teamviewer software से मैं आपके कंप्यूटर पर  - आपको समझा सकता हूँ 

  (teamviewer ऐसा FREE सॉफ्टवेयर है जो आप कंप्यूटर पर डाल ले तो - मैं आपके कंप्यूटर को देख सकता हूँ यानि आप कंप्यूटर पर जो कर रहें है  उसे देख सकता हूँ और करके दिखा भी सकता हूँ।  इसके लिए इंटरनेट की जरूरत होगी।  

ये सॉफ्टवेयर लेने के लिए  google.com पर जाकर Teamviewer सर्च करें या इस लिंक पर क्लिक कर डाउनलोड कर सकते हैं       
 https://www.teamviewer.com/hi/index.aspx

तो इस तरह आप अपने ही घर या ऑफिस में - आसानी से अपने ही टाइम पर सीख सकतें हैं। 

और आपको कहीं आने-जाने कि जरूरत नहीं होती, आने - जाने का खर्च और समय भी बच जाता है


चाहे अपने घर पढ़ें या बाहर इंस्टिट्यूट में- पैसा आप खर्च करते हैं  
जान लें  - सीखना आपने है - अब जो आप सीख रहें है - वो आपकी तरक्की के लिए है 
-अब आप छोटे बच्चे नहीं है की - टीचर आपके सिर पर खड़ा हो - तभी आप पढ़ेंगे 

यह कोर्स औरो से कैसे अलग है ( इसमें क्या खास बात है ?)

- ये कोर्स 15 साल के अनुभवी द्वारा बनाया गया है,

- इसमें वह सीखतें है जो मार्किट में काम आता है, 

- आप ग्राफ़िक डिजाइनिंग तो सीखते ही हैं साथ ही व्यवहारिक ज्ञान भी सीखते हैं 

    जिसमे कस्टमर से कैसे बात करते हैं, 
    आप मार्किट में औरों से अलग पहचान कैसे बनायेंगे 
    आखिर कोई आपको काम क्यों दे जबकि पहले से ही आपसे सीनियर लोग काम कर रहें हैं. 
   अपना काम कैसे प्रचारित करना है 
    मशीन और वर्कर्स को कैसे चुनें  - उनसे काम कैसे कराया जाय -  एक अच्छा माहौल कैसे बनाया जाये

    आपको जानकारी देते हैं की क्या करने से नुक्सान होगा - और कैसे फायदा 

- बार बार पूछने की जरूरत नहीं होती - जो समझ नहीं आ रहा - उस वीडियो को बार - बार देख सकते हैं 

- आप अपने टाइम पर सीख सकते हैं 
   (सुबह - रात को - आधी रात को - दिन में कभी भी - यानि कोई बंधन नहीं ) 

सीधी बात कहें तो जिसके मार्किट में पैसे मिल सकें या आप कमाई कर सके
ऐसे काम आप इस ट्रेनिंग में सीखते हो -


- इसमें CorelDRAW के टूल ही  नहीं बल्कि सबसे जरूरी  Colour designging सीखतें हैं 

- इसमें हर तरह के designging सीखाने के लिए - हर फिल्ड में designing सिखायी गयी है 

- इसमें अनुभवी ट्रेनर द्वारा सीखते हो - बार-बार टीचर बदलने की परेशानी नहीं होती। 

- विडियो ट्रेनिंग के वजह से - भूल जाने पर, पूछने के झंझट से बचते हैं साथ ही
   बार-बार विडियो देखने से समझना आसान हो जाता है। 


- फीस औरो के मुकाबले बहुत कम होने से आप पर खर्च का बोझ नहीं पड़ता यानि affordable होती है। 

- इस कोर्स से सीख कर आप नौकरी या व्यापार करके अपनी कमाई बढ़ा सकतें हैं। 

इस तरह ये ट्रेनिंग, आपके पैसे की पूरी कीमत, आपको वसूल कराने वाली है।